.

2G स्पेक्ट्रम घोटाले में बरखा दत्त के साथ-साथ वी संघवी(हिन्दुस्तान टाइम्स) का भी नाम लिया जा रहा है। देर रात वीर संघवी और नीरा राडिया( देश की सबसे बड़ी लॉबिइस्ट) के बीच हुई बातचीत की फोन टेप यूट्यूब पर अपलोड कर दी गयी है। 'डेथ टू ट्रेटर' नाम से यूट्यूब पर कुल तीन ऑ़डियो डाले गए हैं जिसमें नीरा राडिया मीडिया मुगल वीर सिंघवी से देश के अलग-अलग मसले पर बात करते हुए कैबिनेट पद, अंबानी बंधुओं और मीडिया प्लानिंग की बात करती है. वो इस देश के संदर्भ में बनाना रिपब्लिक( BANANA REPUBLIC) के बारे में बात करती है। मजेदार बात है कि वो बार-बार नेशनल इन्टरेस्ट की बात करती है।

ये बात हैरान करनेवाली तो नहीं है लेकिन शर्मसार कर देनेवाली जरुर है कि जिस 2G स्पेक्ट्रम घोटाले को लेकर देशभर में तूफान मचा हुआ है,डी.राजा के इस्तीफे से यूपीए सरकार ने अपने गले की फंसी हड्डी निकालने की कोशिश की और मीडिया ने उस हड्डी के उपर आसमान उठा लिया,वहीं देश के तमाम मीडिया चैनलों और संस्थानों ने दो मीडिया दिग्गजों के बारे में एक लाइन भी खबर नहीं चलायी। इस तरह से एक पारालाइज्ड स्टोरी को वो दिन-रात ब्रेकिंग और इक्सक्लूसिव चिपकाकर चलाते रहे। इंटरनेट की दुनिया में सबसे बड़ी ब्रेकिंग न्यूज है कि इस मामले में देश के दो सबसे बड़े,चर्चित और दिग्गज पत्रकार के नाम सामने आए हैं। बरखा दत्त जो कि वी दि पीपल( NDTV 24X7) सबसे ज्यादा हक और बेहतर समाज की बात करती हैं तो वहीं वीर सिंघवी TLC( ट्रेवल एंड लिविंग चैनल), हिन्दुस्तान टाइम्स और हिन्दुस्तान पर कथावाचन करते हैं जिन्हें पढ़ते-देखते हुए एक हाइली एलिट पत्रकार से रु-ब-रु होने का एहसास होता है।

वीर सिंघवी ने इस पूरे मामले में अपना नाम आने के बाद उसका जबाब अपनी साइट पर दिया है औऱ कहा है कि इस बातचीत में ऐसा कुछ भी नहीं है जिसके आधार पर ऐसा माना जाए कि मैंने मिस्टर राजा के लिए कोई लाबिइंग की है। वीर सिंघवी ने अंबानी बंधुओं को लेकर भी अपनी सफाई पेश की है।

मामला जो भी हो लेकिन वेबसाइट के जरिए खासतौर से वीर सिंघवी का नाम आने से मीडिया समाज को गहरा धक्का जरुर लगा है और एक बात ये सोचने को मजबूर जरुर करता है कि क्या इस प्रोफेशन में भी वही सब कुछ होने लगा जिसके विरोध में ये प्रोफेशन अपने को डटे रहने के ढोल पीटता रहता है। संभव है वीर सिंघवी के खुद इस मामले में अपनी साइट पर लिख देने के बाद मेनस्ट्रीम मीडिया इस पर अपनी बात रखनी शुरु करे। ऐसे में अब देखना है कि वो इस पूरे मामले को किस तरह से उठाता है और किस तरह की लीपापोती की जाती है।
यूट्यूब के तीनों लिंक-http://www.youtube.com/user/gauttamtheking#p/a/u/1/ljLoovK9SQU
                                http://www.youtube.com/user/gauttamtheking#p/a/u/0/RXUNO1QsAwo
                               http://www.youtube.com/user/gauttamtheking#p/a/u/2/oIw7IfGYWEk
| edit post
3 Response to '2G स्पेक्ट्रम घोटालाः वीर संघवी की ऑडियो टेप जारी'
  1. Nikhil Srivastava
    http://taanabaana.blogspot.com/2010/11/2g.html?showComment=1290155202532#c8749087176413589139'> 19 नवंबर 2010 को 1:56 pm

    Vineet ji, wakai ye sharmnak hai ki jo patrakar sabse jyada sarokaron ki baat karte hain, wahi gale tak is gandgi ke daldal mein ghuse hue hain. ye to sirf ek khulasa hai jo do bade journalists ko expose karta hai, na jane aise kitne chutbhaiye hain hamari is patrakarita mein. sharm aati hai. lekin khushi bhi hai ki kahi to inka asli chehra samne aa raha hai.

     

  2. अभय तिवारी
    http://taanabaana.blogspot.com/2010/11/2g.html?showComment=1290172822749#c2858117411611291528'> 19 नवंबर 2010 को 6:50 pm

    इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.

     

  3. अभय तिवारी
    http://taanabaana.blogspot.com/2010/11/2g.html?showComment=1290172997843#c2639437258641290369'> 19 नवंबर 2010 को 6:53 pm

    यह सोचना तो, विनीत, बचकाना ही होगा कि इस देश में पत्रकार राजनीतिक दलाली से अछूते ही बने रहेंगे या गणेश शंकर विद्यार्थी की तरह जनहित के लिए प्राणों को न्योछावर कर देंगे। हम एकदम अलग समय में जी रहे हैं, आदर्शवाद के वे दिन लद ही गए।
    ये सही है कि नीरा राडिया जब नेशनल इन्ट्रेस्ट की बात कर रही हैं तो उनका मतलब मुकेशेज़ इन्ट्रेस्ट ही है, लेकिन वीर ऐसी कोई भी बात करने से अपने आप को वाक़ई बचा ले गए हैं जो उनकी पत्रकारिक नैतिकता को गिरवी रखती हुई नज़र आती हो। बल्कि नीरा अन्त तक उनकी लाइन से मुतमईन सुनाई नहीं देतीं।
    ये तो सिर्फ़ सुनी हुई बातों की बात है, जो बातें हमने नहीं सुनी उनका क्या?

     

एक टिप्पणी भेजें