.


न्यूज चैनल के टॉप लेबल के दो बॉस अविनाश पांडे(नेशनल सेल्स हेड) और गौतम शर्मा(रीजनल हेड नार्थ इंडिया) की करतूतों की जानकारी पिछले दिनों हमने अपने ब्लॉग पर एक पोस्ट "दागदार हुआ स्टार न्यूज, वहशी बॉस हुए बेनकाब" लिखकर दी थी।
हमने आपको बताया कि कैसे इन दोनों ने अपनी सहकर्मी सायमा सहर के उपर तरह-तरह से दबाव बनाए,उन्हें चैनल में काम करना मुश्किल कर दिया और ऐसे-ऐसे काम करने के लिए प्रेशर बनाए जिसकी न तो वो कभी अभ्यस्त रही है और न ही जिस काम के लिए उसकी समझ इजाजत देती है।



इस पोस्ट को लेकर मेरे पास कई तरह की प्रतिक्रिआएं आयीं। आपमें से अधिकांश लोगों ने इस पोस्ट को सराहते हुए दोनों के खिलाफ सख्त से सख्त कारवायी की मांग की थी। इस बीच विश्वसनीय सूत्रों के हवाले से मिली जानकारी के मुताबिक चैनल के भीतर इन दोनों ने चैनलकर्मियों के बीच लगातार दबाब बनाने की कोशिश की। उनसे कहा गया है कि इस तरह की जो भी बातें की जा रही है वो सब सरासर झूठ है। बेहतर हो कि इन बातों पर ध्यान न दिया जाए। इतना ही नहीं सायमा सहर जो कि अपने हक में जो लड़ाई लड़ रही है उसे लेकर भी इन लोगों ने तरह-तरह की अफवाहें फैलाने की कोशिश की गयी। चैनल के मीडियाक्रमियों के बीच ये बात फैलायी गयी कि सायमा ये सब इसलिए कर रही है कि उसे नौकरी चाहिए,वो समझौते करने जा रही है वगैरह,वगैरह। हमने अपनी तरफ से साफ कहा था कि सायमा अगर ऐसा करती है तो हम जैसे लोगों का सरोकार की पत्रकारिता करने से भरोसा उठ जाएगा। बहरहाल

लेकिन मीडिया खबरों से जुड़ी साइट मीडियाखबर डॉट कॉम(जिसकी खबर के आधार पर हमने पोस्ट लिखी थी) ने जब इस स्टोरी को लगातार फॉलोअप किया तो बात काफी दूर तक पहुंच गयी। साइट के मॉडरेटर ने कई बार इस बात के संकेत भी दिए कि उन पर अलग-अलग तरह से इस स्टोरी को न छापने या फिर नजरअंदाज करने के दबाब बनाए जा रहे हैं। अब जो नयी स्थितियां बनी है उसके हिसाब से चैनल चाहकर भी,दबाब बनाकर भी इस खबर को लेकर किसी भी तरह से मैनेज करने का काम नहीं कर सकता। शुरुआत में सायमा सहर के राष्ट्रीय महिला आयोग के दरवाजे इन सारी घटनाओं को हाजिर कर देने के वाबजूद भी मेनस्ट्रीम मीडिया ने कहीं कोई खोजखबर नहीं ली क्योंकि ऐसे सैंकड़ों मामले हैं जिसमें मीडिया के भीतर की गड़बड़ियां कभी भी मीडिया में खबर नहीं बनने पाती। और वैसे भी इस बात का भरोसा तो रहा ही कि चैनल किसी तरह मैनेज कर ले जाएगा। लेकिन अब जब देखा कि कहानी उलटी पड़ गयी है। इस पूरे मामले की छानबीन के लिए जो जांच कमेटी गठित की गयी,सायमा ने उसकी ऑब्जेक्टिविटी पर ही सवाल खड़े कर दिए और आगे हाइकोर्ट की तरफ से सायमा को स्टे आर्डर मिल गया,तब जाकर मेनस्ट्रीम मीडिया भी एक-एक करके इस खबर में दिलचस्पी लेने लग गए हैं।
जब मेनस्ट्रीम मीडिया को इस बात का एहसास हो गया कि पलड़ा सायमा सहर का भारी है तब जाकर स्टोरी करनी शुरु कर दी है। तो भी ऐसा होना सायमा सहर के पक्ष में है। पहले दि टाइम्स ऑफ इंडिया ने और अब आज नवभारत टाइम्स ने इसे छापा है और तफसील से पूरे मामले की जानकारी दी है।

सायमा सहर को न्याय मिलना ही है और उसकी क्रेडिट हमसे डेढ़ महीने बाद भी छापने पर दि टाइम्स ऑफ इंडिया को मिलेगी क्योंकि कल सबसे पहले उसने ही इस खबर को प्रमुखता से छापी है। इन सबके बावजूद मेनस्ट्रीम मीडिया में लगातार खबरें आने से सायमा का पक्ष मजबूत होगा। ज्यादा से ज्यादा लोगों तक बात पहुंचेगी और एक डेमोक्रेटिक प्रेशर बनेगा। यहां हम दोनों स्टोरी लगा रहे हैं। बेहतर तरीके से पढ़ने के लिए दोनों अखबारों की हायपर लिंक पर क्लिक करें।
| edit post
7 Response to 'स्टार न्यूज के बहशी बॉस की कहानी अब अखबारों में भी..'
  1. भारतीय नागरिक - Indian Citizen
    http://taanabaana.blogspot.com/2010/06/blog-post_09.html?showComment=1276069766372#c8374614560231361719'> 9 जून 2010 को 1:19 pm

    बहुत गंदगी फैल गई है इलेक्ट्रानिक मीडिया में...

     

  2. भारतीय नागरिक - Indian Citizen
    http://taanabaana.blogspot.com/2010/06/blog-post_09.html?showComment=1276069769348#c6293083289763814440'> 9 जून 2010 को 1:19 pm

    बहुत गंदगी फैल गई है इलेक्ट्रानिक मीडिया में...

     

  3. ajay saxena
    http://taanabaana.blogspot.com/2010/06/blog-post_09.html?showComment=1276073483233#c4679882616742377972'> 9 जून 2010 को 2:21 pm

    पूरे मामले में उन मोहतरिमा को सहयोग करने में आपका बहुत बड़ा योगदान है...आपको साधूवाद

     

  4. Anil Pusadkar
    http://taanabaana.blogspot.com/2010/06/blog-post_09.html?showComment=1276081823371#c7702628535599024384'> 9 जून 2010 को 4:40 pm

    बहुत बहुत बधाई आपको

     

  5. L.Goswami
    http://taanabaana.blogspot.com/2010/06/blog-post_09.html?showComment=1276101848592#c6098560132466829317'> 9 जून 2010 को 10:14 pm

    बहुत अच्छे विनीत ...बहुत बधाई आपको

     

  6. सुनील दत्त
    http://taanabaana.blogspot.com/2010/06/blog-post_09.html?showComment=1276102290557#c7403751189006985440'> 9 जून 2010 को 10:21 pm

    सेकुलर मिडीया बयाभिचारिचों व नसैड़ियों का गड़ है।

     

  7. Sanjeet Tripathi
    http://taanabaana.blogspot.com/2010/06/blog-post_09.html?showComment=1276194935839#c832430727839570080'> 11 जून 2010 को 12:05 am

    badhai vineets saheb, aapka blog aise hi sahi muddo par desh bhar ke bade akhbaro ko pichhe chhodte rahe yahi shubhkamnayein hai aapke liye.

    are han, blog to ekbargi pehchan me hi nai aaya ki ye vineet ka hi blog hai, accha rang-roop badla hai aapne, ab aapka blog kisi site ya portal ka swaroop liye hue lag raha hai. like it boss

     

एक टिप्पणी भेजें